पंजाब पुलिस द्वारा ज़हरीली शराब दुखांत में शामिल 2 भगौड़े गिरफ़्तार, पिता-पुत्र की जोड़ी द्वारा 13 और संदिग्धों की पहचान

Advertisement


सभी सरगनाओं पर कत्ल का मामला दर्ज, दोषियों को पनाह देने वाले 21 व्यक्तियों के विरुद्ध 2 और एफआईआर दर्ज
चंडीगढ़, 7 अगस्त:पंजाब पुलिस ने शुक्रवार को शराब दुखांत में शामिल फऱार दो मुख्य व्यक्तियों को गिरफ़्तार किया है, जबकि इस केस में सभी सरगनाओं के विरुद्ध दर्ज एफआईआर में कत्ल के दोष जोड़े गए हैं।
इस सम्बन्धी जानकारी देते हुए डीजीपी दिनकर गुप्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के निर्देशों पर सरगनाओं के विरुद्ध दर्ज एफआईआर में आई.पी.सी की धारा 302 शामिल की गई है, जोकि तीन जि़लों में 113 व्यक्तियों की मौत के लिए सीधे तौर पर जि़म्मेदार हैं।
पंडोरी गोला के रहने वाले पिता-पुत्र, हरजीत सिंह और शमशेर सिंह उर्फ शेरा की गिरफ़्तारी से इस मामले में कुल गिरफ़्तारियों की संख्या 54 हो गई है। अब तक तरन तारन में 37, अमृतसर ग्रामीण में 9 और बटाला में 8 गिरफ़्तारियां हो चुकी हैं। डीजीपी ने बताया कि कश्मीर सिंह और सतनाम सिंह उर्फ सत्ता के अलावा हरजीत सिंह और शमशेर पर कत्ल के दोषों के अंतर्गत मामला भी दर्ज किया गया है।
इसके अलावा केस में शामिल अपराधियों को पनाह देने के दोष के तहत दो एफ.आई.आर आई.पी.सी की धारा 216 के अंतर्गत दर्ज की गई हैं और इस सम्बन्धी 21 व्यक्तियों को गिरफ़्तार किया जा चुका है। पहली मौत 31 जुलाई को रिपोर्ट होने से अब तक तीन प्रभावित जिलों में 887 छापेमारियां की गई हैं (तरन तारन में 303, अमृतसर (ग्रामीण) में 330 और बटाला में 254)।
हरजीत को अमृतसर ग्रामीण पुलिस ने काबू किया था, जिस पर एक एफ.आई.आर दर्ज की गई है जबकि उसके पुत्र को तरन तारन पुलिस ने पकड़ा है, जिस पर 84 मौतों से सम्बन्धित 3 एफ.आई दर्ज की गई हैं। दो एफ.आई. आर 14 मौतों से सम्बन्धित बटाला में दर्ज की गई हैं। तालमेल के द्वारा की गई छापेमारी से इन दोनों की गिरफ़्तारी आज प्रात:काल की गई।
उन्होंने बताया कि दोषी सतनाम सिंह पुत्र हरजीत सिंह द्वारा पुलिस के सामने पूछताछ के दौरान किये खुलासों संबंधी दोनों दोषियों ने पुलिस के सामने माना है कि उन्होंने 27 जुलाई को पंडोरी गोला, तरन तारन के अवतार सिंह से तीन अवैध शराब के तीन ड्रम खऱीदे थे। हरजीत सिंह ने यह शराब लेने के लिए पंद्रह दिन पहले अवतार सिंह को 15 हज़ार रुपए दिए थे और दूसरी किश्त के 15 हज़ार रुपए यह अवैध दारू प्राप्त होने पर देने थे। डीजीपी ने बताया कि इन दोनों दोषियों ने इस मामले में शामिल तेरह अन्य व्यक्तियों के नाम उजागर किये हैं जिनकी गिरफ़्तारी के लिए छापेमारी जारी है।
पंजाब पुलिस के प्रमुख श्री गुप्ता ने बताया कि अवैध शराब तस्करों के विरुद्ध कार्यवाही संबंधी मुख्यमंत्री की हिदायतों के अनुसार पिछले चौबीस घंटों के दौरान कुल 116 केस दर्ज किये गए हैं और 74 व्यक्तियों को गिरफ़्तार किया गया है। इसी समय के दौरान विभिन्न स्थानों पर छापेमारी करके पंजाब पुलिस ने 1114 लीटर अवैध शराब, 642 लीटर देसी दारू और 3921 किलोग्राम लाहन बरामद की है जबकि देसी शराब निकालते हुए पाँच चलती भट्टियाँ पकड़ी गई हैं।
उन्होंने बताया कि इस साल के शुरू से अब तक 11141 मुकदमे और 10456 दोषी गिरफ़्तार किये जा चुके हैं जबकि 167249 लीटर अवैध देसी दारू, 386937 लीटर अवैध शराब और 1582479 किलोग्राम लाहन भी बरामद की गई है। इसके अलावा 184244 लीटर अंग्रेज़ी दारू 746 लीटर रम और 20113 लीटर बीयर भी बरामद की गई है। उन्होंने बताया कि इसके अलावा 47620 लीटर स्प्रिट और 440 चलती देसी शराब की भट्टियाँ भी पकड़ी गई हैं।
————